Breaking News
Home / ज्योतिष / श्राद्ध में जरूर कर लें यह उपाय, घर-परिवार में आएंगीं खुशियां, पितरों का मिलेगा आशीर्वाद

श्राद्ध में जरूर कर लें यह उपाय, घर-परिवार में आएंगीं खुशियां, पितरों का मिलेगा आशीर्वाद

हर वर्ष अपने पितरों की आत्मा की शांति के लिए श्राद्ध मनाया जाता है, श्राद्ध आरंभ होने के साथ-साथ हमारे पूर्वजों की आत्मा को संतुष्टि प्रदान करने के लिए इनको भोग अर्पित किया जाता है और पूर्वजों की आत्माओं को तृप्त किया जाता है, इस बार श्राद्ध 13 सितंबर से आरंभ हो रहे हैं, ऐसा बताया जाता है कि जिस दिन हमारे पूर्वजों का देहांत हुआ था यानी जिस दिन वह इस दुनिया को छोड़ कर गए थे, उसी दिन उनका श्राद्ध मनाना चाहिए, आप इनकी आत्मा की शांति के लिए विधि-विधान पूर्वक श्राद्ध करें, इससे ना सिर्फ पितरों की आत्मा को मुक्ति मिलती है बल्कि इनका आशीर्वाद भी व्यक्ति के ऊपर हमेशा बना रहता है और घर परिवार में खुशियां आती है।

श्राद्ध पक्ष पितरों को प्रसन्न करने का सबसे सही समय माना जाता है, इसके अलावा ऐसे कुछ उपाय भी होते हैं जिनको अगर आप पितृपक्ष के दौरान करते हैं तो इससे आपके पित्तर अति प्रसन्न होंगे और इनकी कृपा से आपके जीवन की दुख परेशानियां दूर होंगी और आप अपना जीवन हंसी खुशी व्यतीत कर पाएंगे, आखिर यह उपाय कौन से हैं? आज हम आपको इन्हीं के बारे में जानकारी देने वाले हैं।

श्राद्ध में जरूर कर लें यह उपाय

  • अगर आप श्राद्ध के दिनों में रोजाना नियमित रूप से कुत्तों को रोटी खिलाते हैं और अपने घर के किसी समीप तालाब में जाकर मछलियों को आटे की गोलियां खिलाते हैं तो इससे आपके पितर प्रसन्न होते हैं।
  • आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आप श्राद्ध में रोजाना घर में पितरों के नाम पर धूप जरूर जलाएं, इसके साथ ही आप जलते हुए कंडो या उपलों पर सब्जी पूड़ी के छोटे-छोटे टुकड़े चढ़ाएं।
  • आपके घर परिवार के जिस व्यक्ति का श्राद्ध आप मना रहे हैं उस व्यक्ति की मनपसंद चीजें बनाएं और ब्राह्मणों को भोजन कराएं, इससे आपको पितरों का आशीर्वाद प्राप्त होता है, जिससे आपके घर में हमेशा बरकत आती है।
  • आप श्राद्ध के दिनों में श्रीमद्भागवत गीता का पाठ अवश्य कीजिए, पाठ करने के पश्चात दान अवश्य करें।
  • आप रोजाना श्राद्ध के दिनों में कौओ के लिए छत पर छोटे-छोटे भोजन के टुकड़े अवश्य रखिए।
  • ऐसा बताया जाता है कि श्राद्ध के दिनों में जो व्यक्ति इस दुनिया को छोड़ कर गया है उसकी उम्र के अनुसार गरीबों को चीजें दान करनी चाहिए, इससे पितरों की आत्मा को शांति प्राप्त होती है।

उपरोक्त कुछ सरल उपाय हैं जिनको अगर आप श्राद्ध के दिनों में करते हैं तो इससे आपके पितरों की आत्मा को शांति मिलेगी और इनकी कृपा से आपके घर परिवार की सभी परेशानियां दूर होंगी, वैसे व्यक्ति को अपने पूर्वजों की आत्मा की मुक्ति के लिए श्राद्ध और तर्पण अवश्य करना चाहिए, अगर आप पूर्वजों का श्राद्ध कर रहे हैं तो इन कुछ उपायों को जरूर अपनाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *