Breaking News
Home / ज्योतिष / इस दिन है देवशयनी एकादशी, ध्यान रहे भूल से भी न करें ये 5 काम

इस दिन है देवशयनी एकादशी, ध्यान रहे भूल से भी न करें ये 5 काम

हर बार की तरह इस साल भी सावन से पहले देवशयनी एकादशी पड़ने वाला है, यह महत्वपूर्ण त्योहार 12 जुलाई को मनाया जाएगा। शास्त्रों में देवशयनी एकादशी का बड़ा ही महत्व बताया गया है। इतना ही नहीं इसे सभी तिथियों में सर्वश्रेष्ठ तिथि माना गया है। माना जाता है कि इस दिन से भगवान विष्णु चार मास की अवधि तक पाताल लोक में निवास करते हैं और क्षीर सागर की अनंत शय्या पर शयन करते हैं, इसलिए इस तिथि को ‘हरिशयनी’ एकादशी भी कहा जाता है।

इसके अलावा कहा गया है कि इस दिन किया गया जप-तप, दान, यज्ञ और सेवा हर चीज का महत्व सबसे अधिक हो जाता है। लेकिन आज हम आपको ये बताएंगे कि शास्त्रों में इस दौरान कुछ ऐसे काम है जिसे करने को मनाही है।

तो आइए जानते हैं कि देवशयनी एकदशी के दिन आखिर कौन से कामों को करने से बचना चाहिए।

1- सबसे पहला काम तो ये है कि भूल से भी इस दिन जु-आ नहीं खेलना चाहिए, क्योंकि जो भी व्यक्ति ऐसा करता है उसका परिवार व संबंधी सबकुछ नष्ट हो जाता है। कहा जाता है कि जिस जगह पर जु-आ खेला जाता है, वहां अध-र्म का राज होता है।

2- ध्यान रहे कि देवशयनी एकदशी में रात को सोना नहीं चाहिए क्योंकि शास्त्रों के अनुसार जो भी व्यक्ति पूरी रात जागकर भगवान विष्णु की भक्ति, मंत्र जप और भजन करना चाहिए। इससे भगवान विष्णु की कृपा प्राप्त होती है।

3- वहीं बात करें खान पान की तो देवशयनी एकदशी के दिन पान खाने की मनाही है जी हां क्योंकि इसे खाने से व्यक्ति के मन में र-जोगुण की प्रवृत्ति बढ़ती है इसलिए एकादशी के दिन पान नहीं खाना चाहिए।

4- अब इन सबके अलावा ये भी ध्यान रहे कि इस दिन भूल से भी किसी दूसरों की बुराई, या फिर निंदा करने से बचना चाहिए। क्योंकि जो भी व्यक्ति ऐसा करता है उसके मान-सम्मान में कमी आती है, अपमान का सामना भी करना पड़ सकता है।

5- देवशयनी एकदशी के दिन किसी भी तरह की चो-री या फिर हिं-सा करने की मनाही है क्योंकि ये म-हापाप माना गया है। वहीं ये भी बता दें कि हिंसा शरीर से ही नहीं बल्कि मन से भी नहीं करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *